नफिल Namaz के Duniya में फ़ायदे | रातो में Namaz फड़ने वाले | Dawat-e-Tabligh

नफिल Namaz के Duniya में फ़ायदे | रातो में Namaz फड़ने वाले | Dawat-e-Tabligh

Maidan-e-Hashr
हिसाब-किताब, किसास, मीज़ान ' और हर जान को उसके अमल का पूरा बदला दिया जाएगा।' नफ़्लों Namaz के फायदा | रातो में Namaz फड़ने वाले | Dawat-e-Tabligh.. नफिल Namaz के Duniya में फ़ायदे | रातो में Namaz फड़ने वाले | Dawat-e-Tabligh  नीयतों पर फैसले नफिल Namaz के फ़ायदे नमाज़ का हिसाब और नफ़्लों का फायदा हज़रत अबू हुरैरः ने फरमाया कि मैंने रसूलुल्लाह से सुना है कि बेशक क़ियामत के दिन बंदे के आमाल में से पहले उसकी नमाज़ का हिसाब किया जाएगा। पस अगर नमाज़ ठीक निकली तो कामयाबी और बामुराद होगा और अगर नमाज़ ख़राब निकली तो नामुराद और टोटा उठाने वाला होगा। पस उसके फ़र्ज़ी में कोई कमी रह जाएगी तो अल्लाह तआला फ़रमायेंगे कि देखो, क्या मेरे बन्दे के कुछ नफ़्ल भी हैं? पस (अगर नफ़्ल…
Read More
कौन गुमराह न हो स्केगा ? |आराफ़ क्या है ? |मौत खतम | Dawat-e-Tabligh

कौन गुमराह न हो स्केगा ? |आराफ़ क्या है ? |मौत खतम | Dawat-e-Tabligh

Maidan-e-Hashr
जो Jannat में दाखिल होगा, उसमें हमेशा रहेगा। Jannat में किसी को Maut न आएगी। न उससे निकाले जाएंगे, न निकलना चाहेंगे । कौन गुमराह न हो स्केगा ? |आराफ़ क्या है ? |मौत खतम | Dawat-e-Tabligh.... कौन गुमराह न हो स्केगा ? |आराफ़ क्या है ? |मौत खतम | Dawat-e-Tabligh  क़ियामत का दिन कितना बड़ा होगा ?  क़ियामत के दिन की लंबाई क़ियामत का दिन बहुत लंबा होगा। हदीस शरीफ़ में इसकी लंबाई 50,000 वर्ष बतायी गयी है।' यानी पहली बार सूर फूंकने के वक्त से लेकर बहिश्तयों के बहिश्त में जाने और दोज़खियों के दोज़ख़ में करार पकड़ने तक पचास हज़ार वर्ष की मुद्दत होगी। इतना बड़ा दिन मुश्किों, काफिरों और मुनाफिकों के लिए बड़ा सख्त होगा। ईमान वाले बंदों के लिए अल्लाह आता आसानी फरमा देंगे। चुनांचे हदीस शरीफ…
Read More
औरतों का लालच | Paisa बड़े वबाल की चीज़ है | Dawat-e-Tabligh

औरतों का लालच | Paisa बड़े वबाल की चीज़ है | Dawat-e-Tabligh

Maidan-e-Hashr
औरतों को कपड़े और ज़ेवर का लालच जो होता है, इसको कौन नहीं जानता? कपड़े और ज़ेवर के लिए , गुनाहों में न ख़र्च करना बड़ा कठिन काम है। औरतों का लालच | Paisa बड़े वबाल की चीज़ है | Dawat-e-Tabligh औरतों का लालच | Paisa बड़े वबाल की चीज़ है | Dawat-e-Tabligh Amir लोग Jannat में क्यू Der से जाएंगे ?  मालदार हिसाब की वजह से जन्नत में जाने से अटके रहेंगे हज़रत अबू हुरैरः से रिवायत है कि आहज़रत सैयदे आलम ने • फ़रमाया कि तंगदस्त लोग जन्नत में मालदारों से पांच सौ वर्ष पहले दाख़िल होंगे।'। और यह भी इर्शाद फ़रमाया कि मैंने जन्नत के दरवाज़े पर खड़े होकर देखा तो उसमें जो दाख़िल हो चुके थे ज़्यादा तर मिस्कीन लोग थे और माल वाले (हिसाब देने के लिए)…
Read More
Duniya में दोबारा आने की दरखास्त | सब धोके में हैं | Dawat-e-Tabligh

Duniya में दोबारा आने की दरखास्त | सब धोके में हैं | Dawat-e-Tabligh

Maidan-e-Hashr
‘अगर उन्हें लौटा दिया जाए तो फिर वे गुनाह करेंगे जिससे मना किया गया है। बेशक ये बड़े झूठे हैं।' लीडरों की बेज़ारी, दुनिया में दोबारा आने की दरखास्त | सब धोके में हैं | Dawat-e-Tabligh दुनिया में दोबारा आने की दरखास्त | सब धोके में हैं | Dawat-e-Tabligh दुनिया में दोबारा आने की दरखास्त सूरः अलिफ लाम-मीम सज्दा में फ़रमाया : ‘और अगर तुम वह वक़्त देखो जबकि मुज्रिम अपने परवरदिगार के सामने सिर झुकाये हुए (कह रहे) होंगे कि ऐ हमारे माबूद ! हमने देख लिया और सुन लिया। हमें आप दुनिया में लौटा दीजिए। हम नेक काम करेंगे। अब हमें यकीन आ गया। उस वक्त अजीब मंज़र देखोगे।' लेकिन एक तो इन्हें दोवारा दुनिया में भेजा नहीं जाएगा और अगर भेज भी दिया जाए तो फिर नाफरमानी…
Read More
मां-बाप apna हक कब मांगे गे ? | जानवरों का बदला | Dawat-e-Tabligh

मां-बाप apna हक कब मांगे गे ? | जानवरों का बदला | Dawat-e-Tabligh

Maidan-e-Hashr
मांग पूरी करने पर मां-बाप इसरार करते रहेंगे बल्कि यह तमन्ना करेंगे कि काश! इस पर हमारा और भी ज्यादा कर्ज होता। जिस जानवर के लात मारी गयी थी, मां-बाप apna हक कब मांगे गे ?| जानवरों का बदला | Dawat-e-Tabligh मां-बाप apna हक कब मांगे गे ?| जानवरों का बदला | Dawat-e-Tabligh कियामत के दिन सबसे बड़ा ग़रीब  हज़रत अबू हुरैरः से रिवायत है कि आहज़रत ने एक बार अपने सहाबा से सवाल फरमाया, क्या तुम जानते हो कि ग़रीब कौन है? सहाबा ने अर्ज़ किया हम तो उसे गरीब समझते हैं कि जिसके पास दिरहम (रुपया-पैसा) और माल व अस्वाब न हो। इसके जवाब में आहज़रत सैयदे आलम ने इर्शाद फ़रमाया कि बेशक मेरी उम्मत में से (हकीकी) मुफ़्लिस वह है जो कियामत के दिन नमाज़ और रोज़े…
Read More
क्या हर चिजो का हिसब होगा? |क्या Qayamat के दिन कीमत वसूल hogi ? | Dawat-e-Tabligh

क्या हर चिजो का हिसब होगा? |क्या Qayamat के दिन कीमत वसूल hogi ? | Dawat-e-Tabligh

Maidan-e-Hashr
यूँ पूछा जाएगा कि क्या हमने तेरे जिस्म को ठीक न रखा था और क्या तुझे हमने ठंढे पानी से तर नहीं किया था। Qayamat के दिन के सवाल क्या है, क्या ये लोग तुमको पूजा करते थे ।' क्या हर चिजो का हिसब होगा? |क्या Qayamat के दिन कीमत वसूल hogi ? | Dawat-e-Tabligh क्या हर चिजो का हिसब होगा? |क्या Qayamat के दिन कीमत वसूल hogi ? | Dawat-e-Tabligh क्या हर चिजो / नेमतों का हिसब होगा?  नेमतों का हाल क़ियामत के दिन नेमतों का सवाल होगा। क़ुरआन शरीफ में इर्शाद है : फिर अलबत्ता ज़रूर तुमसे उस दिन नेमतों की पूछ होगी) । हज़रत अबू हुरैरः से रिवायत है कि आहज़रत सैयदे आलम ने इर्शाद फ़रमाया कि बिलाशुब्हा क़ियामत के दिन नेमतों में से सबसे पहले (तन्दुरुस्ती…
Read More
हौज़े कौसर से किन्को हटाया जयेगा ?| हौज़े कौसर की ख़ूबियां | Dawat-e-Tabligh

हौज़े कौसर से किन्को हटाया जयेगा ?| हौज़े कौसर की ख़ूबियां | Dawat-e-Tabligh

Maidan-e-Hashr
एक परनाला सोने का और दूसरा चांदी का होगा। ' मेरे और उनके दर्मियान आड़ लगा दी जाएगी और वे पीने से महरूम रह जाएंगे। हौज़े कौसर से किन्को हटाया जयेगा ?| हौज़े कौसर की ख़ूबियां | Dawat-e-Tabligh.... हौज़े कौसर से किन्को हटाया जयेगा ?| हौज़े कौसर की ख़ूबियां | Dawat-e-Tabligh हौज़े कौसर हश्र के मैदान में बड़ी भारी तादाद में हौज़ होंगे। आहज़रत सैयदे आलम ने फरमाया कि हर नबी का एक हौज़ होगा और सब नबी आपस में इस पर फन करेंगे कि किस के पास पीने वाले ज़्यादा आते हैं (हर नबी के हौज़ से उसके उम्मती पानी पीएंगे) और मैं उम्मीद करता हूं कि सबसे ज़्यादा लोग मेरे पास पीने के लिए आएंगे। हज़रत मुहम्मद के हौज़े कौसर की ख़ूबियां हज़रत अब्दुल्लाह बिन अम्र रिवायत फ़रमाते हैं कि आंहज़रत…
Read More
अंधेरे मैं Masjid जाने के फ़ायदे | Allah ki अदालत 2 Maidan-e-Hashr | Dawat-e-Tabligh

अंधेरे मैं Masjid जाने के फ़ायदे | Allah ki अदालत 2 Maidan-e-Hashr | Dawat-e-Tabligh

Maidan-e-Hashr
‘यानी उस दिन दुनिया के दोस्त एक-दूसरे के दुश्मन बने हुए होंगे। हां! परहेज़गारों की दोस्ती उस वक्त भी कायम रहेगी।अंधेरे में Masjid जाने वालों को खुशख़बरी सुना दो कि.. अंधेरे मैं Masjid जाने के फ़ायदे | Allah ki अदालत 2 Maidan-e-Hashr | Dawat-e-Tabligh अंधेरे मैं Masjid जाने के फ़ायदे |Allah ki अदालत 2 Maidan-e-Hashr | Dawat-e-Tabligh सबसे ज़्यादा भूखे कौन रहेगे ?   क़ियामत के दिन सबसे ज़्यादा भूखे हज़रत इब्ने उमर से रिवायत है कि हज़रत रसूल करीम के सामने एक शख़्स ने डकार ली। आप ने फ़रमाया कि अपनी डकार कम करो क्योंकि क़ियामत के दिन सबसे ज़्यादा देर तक वही भूखे रहेंगे जो दुनिया में सबसे ज्यादा देर तक पेट भरे रहते हैं।" दोगले इंसान का क्या होगा ?  दोगले का हश्र हज़रत अम्मार से रिवायत 7है…
Read More