Malik और गुलामों का इन्साफ | Zulm करने वाले | Dawat-e-Tabligh

Malik और गुलामों का इन्साफ | Zulm करने वाले | Dawat-e-Tabligh

Maidan-e-Hashr
मेरे कुछ गुलाम हैं जो मुझसे झूठ बोलते हैं और मेरी ख़ियानत करते हैं और मेरी नाफरमानी करते हैं, और मेरी तरफ से यह है कि उनको गालियां देता हूं और सज़ा में मारता भी हूं। अब मेरा और उनका क्या मामला होगा? मालिकों और गुलामों का इन्साफ | Zulm करने वाले | Dawat-e-Tabligh मालिकों और गुलामों का इन्साफ | Zulm करने वाले | Dawat-e-Tabligh मरने के बाद की ज़िन्दगी इस संसार में मनुष्य का यह जीवन अस्थायी है और मरने के बाद उसे एक और जीवन मिलने वाला है जो सदैव रहेगा। अपने सच्चे मालिक की उपासना और उसके आज्ञापालन के बिना उसे मरने के बाद वाले जीवन में जन्नत हासिल नहीं हो सकती बल्कि उसे सदैव के लिए नरक का ईंधन बनना पड़ेगा। आज हमारे लाखों करोड़ों भाई…
Read More