Duniya में दोबारा आने की दरखास्त | सब धोके में हैं | Dawat-e-Tabligh

Duniya में दोबारा आने की दरखास्त | सब धोके में हैं | Dawat-e-Tabligh

Maidan-e-Hashr
‘अगर उन्हें लौटा दिया जाए तो फिर वे गुनाह करेंगे जिससे मना किया गया है। बेशक ये बड़े झूठे हैं।' लीडरों की बेज़ारी, दुनिया में दोबारा आने की दरखास्त | सब धोके में हैं | Dawat-e-Tabligh दुनिया में दोबारा आने की दरखास्त | सब धोके में हैं | Dawat-e-Tabligh दुनिया में दोबारा आने की दरखास्त सूरः अलिफ लाम-मीम सज्दा में फ़रमाया : ‘और अगर तुम वह वक़्त देखो जबकि मुज्रिम अपने परवरदिगार के सामने सिर झुकाये हुए (कह रहे) होंगे कि ऐ हमारे माबूद ! हमने देख लिया और सुन लिया। हमें आप दुनिया में लौटा दीजिए। हम नेक काम करेंगे। अब हमें यकीन आ गया। उस वक्त अजीब मंज़र देखोगे।' लेकिन एक तो इन्हें दोवारा दुनिया में भेजा नहीं जाएगा और अगर भेज भी दिया जाए तो फिर नाफरमानी…
Read More
 दुनिया में aur कितने दिन baki रहे? | चेहरों पर खुशी और उदासी| Dawat-e-Tabligh

 दुनिया में aur कितने दिन baki रहे? | चेहरों पर खुशी और उदासी| Dawat-e-Tabligh

Maidan-e-Hashr
वाला कि तुम दुनिया में एक दिन से ज़्यादा नहीं रहे।' उस दिन से जो बच्चों को बूढ़ा कर देगा।' 'कितने चेहरे उस दिन रौशन (और) हंसते (और खुशी करते होंगे..  दुनिया में aur कितने दिन baki रहे? | चेहरों पर खुशी और उदासी| Dawat-e-Tabligh  दुनिया में कितने दिन रहे? Maidan-e-Hashr| चेहरों पर खुशी और उदासी| Dawat-e-Tabligh दुनिया में aur कितने दिन baki रहे? अल्लाह तआला ने इस आयत के बाद दूसरी आयत में फ़रमाया : नहनु अलमु बिमा यकूलू न इज़ यकूलु अम्सलुहुम तरीकृतन इल्लविस्तुम इल्ला यौमा । 'हमको अच्छी तरह मालूम हैं, जो कुछ वे कहते हैं। जब बोलेगा उनमें का अच्छी रविश वाला कि तुम दुनिया में एक दिन से ज़्यादा नहीं रहे।' आख़िरत के लम्बे और वहां कि दर्दनाक मंज़रों को देखकर दुनिया में या कब्र…
Read More