Duniya में दोबारा आने की दरखास्त | सब धोके में हैं | Dawat-e-Tabligh

Duniya में दोबारा आने की दरखास्त | सब धोके में हैं | Dawat-e-Tabligh

Maidan-e-Hashr
‘अगर उन्हें लौटा दिया जाए तो फिर वे गुनाह करेंगे जिससे मना किया गया है। बेशक ये बड़े झूठे हैं।' लीडरों की बेज़ारी, दुनिया में दोबारा आने की दरखास्त | सब धोके में हैं | Dawat-e-Tabligh दुनिया में दोबारा आने की दरखास्त | सब धोके में हैं | Dawat-e-Tabligh दुनिया में दोबारा आने की दरखास्त सूरः अलिफ लाम-मीम सज्दा में फ़रमाया : ‘और अगर तुम वह वक़्त देखो जबकि मुज्रिम अपने परवरदिगार के सामने सिर झुकाये हुए (कह रहे) होंगे कि ऐ हमारे माबूद ! हमने देख लिया और सुन लिया। हमें आप दुनिया में लौटा दीजिए। हम नेक काम करेंगे। अब हमें यकीन आ गया। उस वक्त अजीब मंज़र देखोगे।' लेकिन एक तो इन्हें दोवारा दुनिया में भेजा नहीं जाएगा और अगर भेज भी दिया जाए तो फिर नाफरमानी…
Read More