तबियत की ख़राबी | हर तरफ जमाअतें भेज दो | Dawat-e-Tabligh

तबियत की ख़राबी | हर तरफ जमाअतें भेज दो | Dawat-e-Tabligh

Hazratji Molana Yousuf 
हयात के आख़िरी लम्हे अब तो मंज़िल तै हो चुकी क्या इसका इन्तिजाम हो जाएगा?' मरज का आख़िरी और जानलेवा हमला , जकात अदा कर दीजिए Doctor का phone आया, तबियत की ख़राबी | हर तरफ जमाअतें भेज दो | Dawat-e-Tabligh.... तबियत की ख़राबी | हर तरफ जमाअतें भेज दो | Dawat-e-Tabligh परिचय नापायदार हयात के आख़िरी लम्हे दावत व तब्लीग़ के क़ाइद व रहनुमा मौलाना मुहम्मद यूसुफ़ वर्र दल्लाहु मज़-जअहू की वफ़ात ऐसा अलमनाक बाक़िया है, जिसकी याद मुद्दतों ताजा रहेगी और हजारों दिल इस अलमिया से टीस महसूस करते रहेंगे। यह वाक़िया कोई अनोखा वाक़िया नहीं है, इस फ़ानी दुनिया में हर आने वाले को आख़िरकार जाना है, लेकिन कई वजहों से इस वाक़िए की अलमअंगेज़ी ज़्यादा है। इनमें से एक वजह यह थी कि यह हादसा इस तेज़ी से…
Read More
नफिल Namaz के Duniya में फ़ायदे | रातो में Namaz फड़ने वाले Web Stories| Dawat-e-Tabligh

नफिल Namaz के Duniya में फ़ायदे | रातो में Namaz फड़ने वाले Web Stories| Dawat-e-Tabligh

Web Stories
हिसाब-किताब, किसास, मीज़ान ' और हर जान को उसके अमल का पूरा बदला दिया जाएगा।' नफ़्लों Namaz के फायदा | रातो में Namaz फड़ने वाले Web Stories | Dawat-e-Tabligh..
Read More
नफिल Namaz के Duniya में फ़ायदे | रातो में Namaz फड़ने वाले | Dawat-e-Tabligh

नफिल Namaz के Duniya में फ़ायदे | रातो में Namaz फड़ने वाले | Dawat-e-Tabligh

Maidan-e-Hashr
हिसाब-किताब, किसास, मीज़ान ' और हर जान को उसके अमल का पूरा बदला दिया जाएगा।' नफ़्लों Namaz के फायदा | रातो में Namaz फड़ने वाले | Dawat-e-Tabligh.. नफिल Namaz के Duniya में फ़ायदे | रातो में Namaz फड़ने वाले | Dawat-e-Tabligh  नीयतों पर फैसले नफिल Namaz के फ़ायदे नमाज़ का हिसाब और नफ़्लों का फायदा हज़रत अबू हुरैरः ने फरमाया कि मैंने रसूलुल्लाह से सुना है कि बेशक क़ियामत के दिन बंदे के आमाल में से पहले उसकी नमाज़ का हिसाब किया जाएगा। पस अगर नमाज़ ठीक निकली तो कामयाबी और बामुराद होगा और अगर नमाज़ ख़राब निकली तो नामुराद और टोटा उठाने वाला होगा। पस उसके फ़र्ज़ी में कोई कमी रह जाएगी तो अल्लाह तआला फ़रमायेंगे कि देखो, क्या मेरे बन्दे के कुछ नफ़्ल भी हैं? पस (अगर नफ़्ल…
Read More

Allah पर याकीन| नमाज (Namaz) की फ़ज़ीलत (benefits)|Hazratji Molana Yousuf| Dawat-e-Tabligh

Hazratji Molana Yousuf 
'हमारे रब अल्लाह (Allah) हैं' तो बात ख़त्म न हुई, बल्कि यहां से शुरू हुई कि जब अल्लाह पालने वाले हैं, तो ग़ैरों से पलने का यक़ीन निकालो। Allah पर याकीन| नमाज (Namaz) की फ़ज़ीलत (benefits) परिचय  हजरते अक़्स मौलाना शाह मुहम्मद यूसुफ़ साहब नव्वरल्लाहु मरक़दहू की आखिरी तक़रीर कतवा यके अज्ञ रफ़ीक़े सफ़र, तारीख़ 29 जीक़ादा सन् 1384 हिजरी मुताबिक़ पहली अप्रैल 1965 ई० ववक़्ते शब जुमा बाद नमाज मग्रिव मक़ाम मस्जिद विलाल पार्क, लाहौर नमदुहू व नुसल्ली अला रसूलिहिल करीम अम्मा बाद — दुनिया की हर चिस Temporary है अल्लाह तआला ने जो कुछ ज़मीन व आसमान में बनाया है, उसमें सब वक़्ती रखा है, वक़्ती पेट भरना, वक़्ती प्यास बुझाना, वक़्ती इज़्ज़त, वक़्ती जिल्लत, वक़्ती मौत, वक़्ती हयात, थोड़ी सी देर के लिए तन्दुरुस्ती है, फिर बीमारी…
Read More