तबियत की ख़राबी | हर तरफ जमाअतें भेज दो | Dawat-e-Tabligh

तबियत की ख़राबी | हर तरफ जमाअतें भेज दो | Dawat-e-Tabligh

Hazratji Molana Yousuf 
हयात के आख़िरी लम्हे अब तो मंज़िल तै हो चुकी क्या इसका इन्तिजाम हो जाएगा?' मरज का आख़िरी और जानलेवा हमला , जकात अदा कर दीजिए Doctor का phone आया, तबियत की ख़राबी | हर तरफ जमाअतें भेज दो | Dawat-e-Tabligh.... तबियत की ख़राबी | हर तरफ जमाअतें भेज दो | Dawat-e-Tabligh परिचय नापायदार हयात के आख़िरी लम्हे दावत व तब्लीग़ के क़ाइद व रहनुमा मौलाना मुहम्मद यूसुफ़ वर्र दल्लाहु मज़-जअहू की वफ़ात ऐसा अलमनाक बाक़िया है, जिसकी याद मुद्दतों ताजा रहेगी और हजारों दिल इस अलमिया से टीस महसूस करते रहेंगे। यह वाक़िया कोई अनोखा वाक़िया नहीं है, इस फ़ानी दुनिया में हर आने वाले को आख़िरकार जाना है, लेकिन कई वजहों से इस वाक़िए की अलमअंगेज़ी ज़्यादा है। इनमें से एक वजह यह थी कि यह हादसा इस तेज़ी से…
Read More