Ummat -e-Mohammad  पर 3 बातो का Dar 

Gray Frame Corner

एक हदीस में आप सल्लल्लाहु अलैहि व सल्लम ने इर्शाद फ़रमाया कि मुझे अपनी उम्मत पर तीन बातों का खौफ है

1.  माल बहुत मिल जाए जिसकी वजह से आपस में हसद में मुब्तला हो जायें और कुल व खून करने लगें

2. Allah की किताब सामने खुल जाये (यानी तर्जमे के ज़रिये हर आमी और जाहिल भी उसको समझने का मुद्दआ हो जाये) 

और उसमें जो बातें समझने की नहीं हैं, यानी मुताशाबिहात उनके मानी समझने की कोशिश करने लगें, हालांकि इनका मतलब अल्लाह ही जानता है। 

3. उनका इल्म बढ़ जाया तो उसे जाये कर दें और इल्म को बढ़ाने की जुस्तजू छोड़ दें। 

Ummat-e- Mohammad होने ki tamanna

Mohammad सल्लल्लाहु अलैहि व सल्लम का मामला

Mohammad सल्लल्लाहु अलैहि व सल्लम का मामला